विक्रेता को सेवा
1. सूक्ष्म, लघु उद्यमियों हेतु लोक क्रय नीति आदेश-2012 के सम्बन्ध में सूक्ष्म लघु उद्यम क्षेत्र एवं केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को सु-ग्राही बनाना।
2.    क्रेता-विक्रेता सम्मेलन, गोष्ठियों एवं प्रदर्शनियों के आयोजन कार्यक्रमों द्वारा राज्य एवं राष्ट्र स्तरीय विक्रेता विकास कार्यक्रम करना।
3.    सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय की योजनाओं के माध्यम से सहयोग देते हुए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों की क्षमता निर्माण-कार्य।
आर्थिक अन्वेषण एवं सांख्यकीय सेवाएँ
1.    उत्पाद चयन में सहायता करना।
2.    क्षेत्र विशेष हेतु औद्योगिक सम्भाव्यता सांकेतिक क्षेत्र सर्वेक्षण प्रतिवेदन तैयार करना
3.    उद्योग संभावना पत्रक तैयार करना एवं विपणन सर्वेक्षण प्रतिवेदन तैयार करना
4.    लघु उद्योगों का आगणन / गणना
5.    औद्योगिक उत्पादन, लघु उद्योग इकाईयों से डाटा संग्रहण द्वारा वृद्धि दर आधारित सूचकांक संकलन

जागरूकता कार्यक्रम
1.    ऊर्जा संरक्षण
2.    प्रदूषण नियंत्रण
3.    गुणवत्ता नियंत्रण एवं प्रोन्नयन
4.    अपशिष्ट घटना एवं शोधित उत्पादन
5.    विश्व व्यापार संगठन अवधारणाा
6.    बौद्धिक सम्पदा अधिकार
7.    निर्यात के लिए पैकेज प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं बार कोड तकनीकी
8.    आई.एस.ओ.-9000 (प्रमाणन, आंतरिक एवं वाह्य लेखा परीक्षण आदि)

विपणन एवं निर्यात संवर्धन
1.    राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम के माध्यम से सरकारी विभागों को उत्पादों के विपणन में सहायता। एम.एस.एम.ई. इकाईयों की क्षमता का आकलन, तकनीकी सार्धात्मकता आदि का आकलन करता है।
2.    निर्यात प्रक्रिया/दस्तावेजीकरण/निर्यात विपणन/निर्यात पैकेज आदि पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करना।
3.    अन्र्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में प्रतिभागिता के लिए निर्यात योग्य यूनिटों का चयन करना और उनके उत्पादों को व्यापार मेले में प्रदर्शन हेतु चयनित करना। व्यापार सम्बन्धित जानकारियों, प्रश्नों एवं पूछताछ से प्राप्त व्यापार सम्बन्धी जानकारियों को तद्न्तर व्यापक स्तर पर परिचालित किया जाता है।
4.    विविध निर्यात पुरस्कारों के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों को प्रायोजित करना।
5.    औद्योगिक उत्पादन, लघु उद्योग इकाईयों से डाटा संग्रहण द्वारा वृद्धि दर आधारित सूचंकाक संकलन।
जागरूकता कार्यक्रम/कार्यशालाएं/गोष्ठियांँ
1.    ऊर्जा संरक्षण
2.    प्रदूषण नियंत्रण
3.    गुणवत्ता नियंत्रण एवं प्रोन्नयन
4.    अपशिष्ट घटाना एवं शोधित उत्पादन
5.    विश्व व्यापार संगठन अवधारणा
6.    बौद्धिक सम्पदा अधिकार
7.    निर्यात के लिए पैैकेज प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं बार कोड तकनीकी
8.    आई0एस0ओ0 9000 (प्रमाणन, आंतरिक एवं बाह्य लेखा परीक्षण आदि)
विपणन एवं निर्यात संवर्धन
1.    राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम के माध्यम से सरकारी विभागों के उत्पादों के विपणन में सहायता। एम0एस0एम0ई0 इकाईयों की क्षमता का आकलन, तकनीी स्पर्धात्मकता आदि का आंकलन करता है।
2.    निर्यात प्रक्रिया/दस्तावेजीकरण/निर्यात विपणन/निर्यात पैकेज आदि पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करना।
3.    अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में प्रतिभागिता के लिए निर्यात योग्य युनिटों का चयन करना और उनके उत्पादों को व्यापार मेले में प्रदर्शन हेतु चयनित करना। व्यापार संबंधित जानकारियों, प्रश्नों तथा पूछताछ आदि से प्राप्त व्यापार संबंधी जानकारियों को तद्न्तर व्यापक स्तर पर परिचालित किया जाता है।
4.    विविध निर्यात पुरस्कारों के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों को प्रायोजित करना।

आई0एस0ओ0- प्रमाणन/ बार कोडिंग
1.    आई0एस0ओ0 प्रमाणन सूक्ष्म उद्यमियों जिन्होंने आई0एस0ओ0 9000 प्रमाणन/आई0एस0ओ0 14000/ एच0ए0सी0सी0पी0 प्राप्त किए जाने पर रू0 75,000/- तक की प्रतिपूर्ति।
2.    बार-कोड
तीन वर्ष अवधि के लिए बार कोड लायसेंस एवं पजीकरण के बावत् कुल लागत का 75 प्रतिशत तक प्रतिपूर्ति।
Copyright © 2017 msmedihaldwani.gov.in, All rights reserved.
Powered by Uttaranchal Online